शुक्रवार, 13 मई 2011

राष्ट्रीय तकनीकी दिवस National Technology Day

राष्ट्रीय तकनीकी दिवस National Technology Day
तकनीक से कोई काम आसान करने का इतिहास आदि काल से है मगरमच्छ के डर से चटान के उपर बैठे आदि मानव ने जब सब से पहले सरकंडे को खोखला कर के पानी पीया होगा या फिर २०वीं सदी  मनुष्य ने तकनीक के प्रयोग से पृथ्वी के वायुमंडल से बाहर निकलना सीख कर चाँद पर अपने कदम रखें होंगे; एक जैसा सुखद अहसास हुआ होगा | 
विभिन्न ओज़ारो और उँगलियों का प्रयोग करता मानव आज पृथ्वी का सबसे विकसित जीव बन गया है | तकनीकी का प्रयोग काम को आसान बनाने के लिए भले ही सदियों से हो रहा हो परन्तु भाषा लिपि के लिए यह शब्द  २० वीं सदी की ही देन है ; विज्ञान ,अभियांत्रिकी और तकनीकी मे गहरा सम्बन्ध है यहाँ विज्ञान आविष्कार,नवाचार और सिद्धांत प्रदान करती है तो तकनीक विज्ञान का व्यवहारिक रूप और इस तकनीक का व्यवसायिक उपयोग जो है  वो है अभियांत्रिकी, इस का ज्ञाता कहलाया अभियंता |
पहीयें का बनाया जाना और फिर उसके  अनगिनत उपयोग तकनीक के विकास मे अगुआ साबित हुआ | ऊर्जा और परिवहन मे पहीयें क्रान्ति ला दी |  प्रथम औद्योगिक क्रान्ति और  द्वितीय औद्योगिक क्रांति के बाद तकनीकी के छुपे योगदान को नाम सहित पर्दे पर लाया जा सका |

मेलिन क्रांजबर्ग (Melvin Kranzberg) ने छ: "प्रौद्योगिकी के नियम" प्रतिपादित किये हैं जो निम्नवत् हैं-

प्रथम - प्रौद्योगिकी न अच्छा है, न बुरा और न ही तटस्थ (neutral)।
द्वितीय - अनुसंधान, आवश्यकता की जननी है।
तृतीय - प्रौद्योगिकी छोटे-बड़े पैकेजों के रूप में आती है।
चतुर्थ - यद्यपि बहुत से लोहहित के मुद्दों में प्रौद्योगिकी प्रमुख अवयव (prime element) होती है किन्तु प्रौद्योगिकि-नीति सम्बन्धी निर्णय लेते समय गैर-तकनीकी बातों को अधिक महत्व दे दिया जाता है।
पंचम - सारा इतिहास महत्वपूर्ण (relevant) है किन्तु प्रौद्योगिकी का इतिहास सबसे महत्वपूर्ण है।
षष्टम् - प्रौद्योगिकी बहुत ही मानवीय क्रियाकलाप (human activity) है; इसी तरह प्रौद्योगिकी का इतिहास भी मानवीय क्रियाकलाप है।(सोजन्य विकी)
      आज 11मई को  राष्ट्रीय राष्ट्रीय तकनीकी दिवस पर कल्ब सदस्यों को आदिम युग से लेकर अत्याधुनिक टैक्नोलोजी से अवगत किया गया और स्कूली शिक्षा पूरी करने  कर बाद तकनीकी शिक्षा प्राप्त करना भी बहुत जरूरी है |

इस गोष्टी मे सभी ने वाद विवाद किया और निष्कर्ष निकाला कि विज्ञान और तकनीकी ने जीवन को आसान और लंबा बना दिया है | 
प्रस्तुति:- इमली इको क्लब रा.व.मा.वि.अलाहर,जिला यमुना नगर हरियाणा
द्वारा--दर्शन लाल बवेजा(विज्ञान अध्यापक)

2 टिप्‍पणियां:

शिक्षामित्र ने कहा…

ध्यान ही नहीं था कि यह दिवस भी मनाया जाता है। आभार।
(टिप्पणीःशीर्षक में तथा एक अन्य स्थान पर राष्ट्रीय शब्द का दुहराव हो गया है। कृपया देखें।)

दर्शन लाल बवेजा ने कहा…

धन्यवाद जी....
शिक्षा मित्र जी