मंगलवार, 1 मार्च 2016

राष्ट्रीय विज्ञान दिवस National Science Day

राष्ट्रीय विज्ञान दिवस National Science Day
राष्ट्रीय विज्ञान दिवस पर ख़ास : दर्शन लाल बवेजा
राष्ट्रीय विज्ञान दिवस के अवसर पर कार्यक्रम आयोजित
प्रगतिशील किसान धर्मवीर सिंह ने बच्चों को नवाचारी देशज विज्ञान एवं विज्ञान में नवीन आविष्कारों के बारे संबोधित किया।
धरमबीर सिंह जी के साथ 
अलाहर के राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय में होमी भाभा विज्ञान क्लब ने  राष्ट्रीय विज्ञान दिवस के अवसर पर विभिन्न कार्यक्रमों का आयोजन किया गया। कर्यक्रम का शुभारम्भ विद्यालय के प्रधानाचार्य नरेंद्र ढींगरा ने किया। राष्ट्रीय विज्ञान दिवस के अवसर पर अपने संबोधन में उन्होंने कहा की विज्ञान प्राचीन काल से ही खोजपूर्ण, ज्ञानवर्धक, निर्णायक और भविष्य निर्माणक के रूप में मानव सभ्यता के साथ खड़ा है। विज्ञान सदा से निर्माता है विज्ञान संहारक कदापि नही हो सकता बशर्ते निति नियामको और इसके प्रयोक्ताओं की नीयत साफ़ हो।
विज्ञान पुस्तक प्रदर्शनी 
विज्ञान अध्यापक दर्शन लाल ने अपने संबोधन में कहा की इस वर्ष राष्ट्रीय विज्ञान दिवस के लिए चर्चा हेतु विषय ‘देश के विकास में वैज्ञानिक मुद्दों को सार्वजनिक प्रोत्साहन देना हो उद्देश्य’ रखा गया है। इस थीम के अंतर्गत बताया कि अब यह सुनिश्चित किया जाना आवश्यक हो जाता है कि विज्ञान का उपयोग मानव जाति के हित में हो। इसके लिए सभी वैज्ञानिक मुद्दों को समाज में प्रोत्साहित करके विश्वस्तरीय वैज्ञानिक समाज बनाने का दृढ़ संकल्प लेना होगा।
विज्ञान पुस्तक प्रदर्शनी 
इस अवसर पर विशेष रूप से आमंत्रित दामला के निवासी राष्ट्रीय पुरस्कार विजेता व प्रगतिशील किसान धर्मवीर सिंह ने विद्यालय के बाल वैज्ञानिकों के माडलों को देखा व उनको कुछ नया करने के लिए प्रोत्साहित किया। उनकी प्रेरणा से बच्चों ने कागज पर बहुत से इनोवेटिव आइडिया बना कर दिखाए। उन्होंने बच्चों के द्वारा बनाए गए बहुत से नवाचारी विज्ञान माडलों को देखा और सराहा। किसान धर्मवीर सिंह ने बच्चों के साथ इनोवेशन, डिजायनिंग, फंडिंग व पेटेंट आदि बिन्दुओं पर चर्चा कि व सुझाव दिए। 
धरमबीर सिंह जी 
उन्होंने अपनी सफलता की कहानी खुद की ही  ज़ुबानी सुना कर प्रेरित किया और कहा कि आविष्कार कभी भी उच्च शिक्षा का मोहताज नहीं रहा है तुम बस सोचो और काम पर लग जाओ सफलता तुम्हारे कदम चूमेगी।

इस अवसर पर एक विज्ञान पुस्तक व पोस्टर प्रदर्शनी भी लगाई गयी। इस मौके पर दर्शन लाल बवेजा, रविंदर कुमार सैनी, लवलीन कौर, संजीव कुमार, प्रदीप धीमान, संदीप कुमार, जसविन्द्र कौर, मीना काम्बोज, सुनीता काम्बोज, भगवती शर्मा, पवन कुमार, मुनीश शर्मा, रीना रानी उपस्थित रहे।
In News




Darshan Lal Baweja
Science Teacher Cum Science Communicator
Secretary C V Raman Science Club Yamunanagar
Distt. Coordinator NCSC, Haryana Vigyan Manch Rohtak
09416377166
Web Links 

मंगलवार, 16 फ़रवरी 2016

विश्व कैंसर दिवस पर गोष्ठी World Cancer Day

अलाहर के राजकीय विद्यालय में विश्व कैंसर दिवस पर गोष्ठी का आयोजन
गुटखा, पानमसाला, तम्बाखू और खैनी मुहं और गले के कैंसर का मुख्य कारण

राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय अलाहर में होमी भाभा विज्ञान क्लब ने
आज विश्व कैंसर दिवस पर संगोष्ठी का आयोजन किया गया। इस अवसर पर बच्चों को कैंसर रोग के इतिहास, कैंसर के प्रकार, इसके फैलने के कारणों एवं कारकों और इससे से बचाव के उपायों पर प्रकाश डाला गया।
विद्यालय के प्रधानाचार्य नरेंद्र कुमार ढींगरा ने बच्चों को संबोधित करते हुए कहा कि तंदरुस्ती हजार नियामत है इसलिए हमे खुद को उन बुरी खाद्य आदतों से दूर रहना होगा जो भविष्य में कैंसर रोग के कारण बनते हैं।
विद्यालय के विज्ञान अध्यापक व होमी भाभा विज्ञान क्लब अलाहर के प्रभारी दर्शन लाल ने बच्चों को समझाया कि आजकल बच्चे बुरी संगति में पड़ कर और बड़ों को देख कर गुटखा, खैनी, तम्बाखू, धुम्रपान एवं हुक्का आदि का सेवन करने लगते हैं जिस कारण उनको मुहं और फेफड़ों के कैंसर हो जाने का ख़तरा बढ़ जाता है।
विश्व की भयानक बीमारियों में गिनी जाने वाली यह बीमारी हर वर्ष बढ़ती ही जा रही है और लाखों लोगों को अपनी चपेट में ले रही हैं। कैंसर रोग वास्तव में शरीर में कोशिकाओं के समूह की अनियंत्रित वृद्धि को कहते हैं, फिर ये कोशिकाएं उत्तकों को प्रभावित करती हैं तब कैंसर शरीर के अन्य हिस्सों में फैल जाता है। कैंसर किसी भी आयु में हो सकता है। कैंसर का उचित समय पर पता ना लगे और उसका इलाज ना हो तो इससे जान जाने का खतरा बढ़ जाता है। कैंसर के प्रकार में मुख्यतः स्तन कैंसर, मुख कैंसर, सर्वाइकल कैंसर, मस्तिष्क कैंसर, हड्डी में कैंसर, मूत्राशय का कैंसर, अमाशय का कैंसर, प्रोस्टेट कैंसर, गर्भाशय कैंसर, गुर्दों में कैंसर, फेफड़ों का कैंसर, त्वचा कैंसर, रक्त कैंसर, पेट का कैंसर, थायरॉड कैंसर, गले का कैंसर अदि होते हैं। उचित खानपान, व्यसनों से दूरी, प्रदुषण व कीटनाशक नाशक रसायनों से बचाव, व्यायाम, फलों और सब्जियों की मात्रा बढ़ाकर कैंसर से बचा जा सकता है  
इस अवसर पर रविंदर सैनी, लवलीन कौर, जसविन्द्र कौर, प्रदीप धीमान, संदीप कुमार, मनीष शर्मा मौजूद रहे।
अखबार में 




गुरुवार, 11 फ़रवरी 2016

बेटियों के जन्मदिन मनाये गए और पीटीएम PTM and Birthday Celebrations

बेटियों के जन्मदिन मनाये गए और पीटीएम का आयोजन हुआ
आज राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय अलाहर मे अभिभावक अध्यापक बैठक का आयोजन किया गया। आज ही विद्यालय व गावं की उन सभी बेटियों का जन्मदिन भी मनाया गया जिनका जन्मदिन जनवरी व फरवरी महीने में आता है इस अवसर पर पूरे विद्यालय के बच्चों, ग्राम पंचायत व विद्यालय प्रबंधन समितियों के सदस्यों के लिए प्रीतिभोज का भी आयोजन किया गया। अलाहर  की ग्राम पंचायत के सदस्यों ने सरपंच गोपाल कृष्ण काम्बोज व एसएमसी प्रधान लीना रानी के साथ  शिरकत की और बच्चियों को उनके जन्मदिन पर आशीर्वाद दिया। विद्यालय के लिए और भी खुशी की बात यह रही कि यहाँ के दो भूतपूर्व विद्यार्थी पवन कुमार ग्रामसभा पंच व नेहारानी ब्लाक समिति मेम्बर चुनी गयी है उन को भी सम्मानित किया गया।
अभिभावक अध्यापक बैठक के लिए अभिभावकों ने विद्यालय में आकर सभी विषय अध्यापकों व कक्षा अध्यापको से अपने बच्चों की प्रगति रिपोर्ट बारे मे चर्चा की और अध्यापकों के साथ विद्यालय की प्रगति बारे विचार-विमर्श भी किया 
विद्यालय के प्रधानाचार्य नरेंद्र कुमार ढींगरा ने कहा कि इस प्रकार की बैठके अभिभावकों को अध्यापको से मिलने जुलने का बेहतरीन अवसर प्रदान करती हैं और अभिभावक, अध्यापको से अपने बच्चों के सर्वांगीण विकास के बारे में सलाह करते हैं। अलाहर के नवनिर्वाचित सरपंच गोपाल कृष्ण ने कहा कि बेटियों के जन्मदिन मनाने से समाज में उनका मानसम्मान बढेगा और उन्हें बेटियों की अहमियत के बारे में पता चलेगा।  
विद्यालय की कक्षा आठ के कक्षा अध्यापक दर्शन लाल सहित अन्य सभी कक्षा अध्यापको ने अभिभावकों को उनके बच्चों के मासिक टेस्ट, कक्षा सहगामी गतिविधियों और रुचियों के बारे में अवगत करवाया और सभी अभिभावक बहुत खुश नजर आये।
इस अवसर पर  विद्यालय के अध्यापक रविंदर कुमार, दर्शन लाल, सुनील कुमार, लवलीन कौर, मीना काम्बोज, भगवती शर्मा, मुनीश शर्मा, रीना रानी, संजीव कुमार, प्रदीप कुमार, पवन कुमार सचदेवा, अनिल कुमार काम्बोज, संदीप कुमार, सुनीता कुमारी वरुण काम्बोज उपस्थित रहे। 
अखबार में


एचआईवी-एड्स जागरूकता अभियान National Youth Day

एचआईवी-एड्स जागरूकता अभियान के द्वारा मनाया राष्ट्रीय युवा दिवस 
राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय अलाहर में  होमी भाभा विज्ञान क्लब राष्ट्रीय युवा दिवस मनाया गया जिसके उपलक्ष्य में एचआईवी-एड्स जागरूकता कार्यक्रमों का आयोजन किया गया। इस आयोजन का उद्घाटन विद्यालय के प्रधानाचार्य नरेंद्र ढ़ीगड़ा ने किया। 
अपने संबोधन में उन्होंने कहा कि समाज को संक्रमित व्यक्ति का सहयोग करना चाहिए ना की उसका तिरस्कार करना चाहिए इस अवसर पर विद्यालय में पोस्टर बनाओ प्रतियोगिता, निबंध लेखन व वादविवाद प्रतियोगिताओं का आयोजन किया गया जिसमे बच्चों ने बड़े ही उत्साह से भाग लिया व एचआईवी-एड्स पर अपने नजरिये को कागज पर उकेरा। बच्चों ने अपने पोस्टरों के माध्यम से यह सन्देश दिया कि एचआईवी-एड्स का उपचार उसके बारे में अधिक से अधिक जानकारी रखने में ही है क्योंकि यह रोग अज्ञानता की दशा में जल्द अपने पैर पसारता है।
इस अवसर पर एक संगोष्ठी का भी आयोजन किया गया जिसमे अध्यापकों ने स्वामी विवेकानंद के जीवन व विश्व को उनके योगदान से परिचित करवाया। विज्ञान अध्यापक दर्शन लाल बवेजा ने इस अवसर पर बालकों को संबधित करते हुए कहा कि आज दुनिया के बहुत से देशों के युवक-युवतियां भयंकर रोग एचआईवी-एड्स की चपेट में आ रहे है, जो की खतरे की घंटी है। इस रोग से बचाव का एकमात्र उपाय इसके प्रति ज्ञान का संचार होना है। जितना हम इस रोग के फैलने के तरीकों से वाकिफ होंगे उतना ही हम सावधान रहेंगे और इस रोग से बचे रहेंगे।
इस अवसर पर विद्यालय के अध्यापक दर्शन लाल, रविंदर सैनी, जसविन्द्र कौर, भगवती शर्मा, पवन कुमार, धर्मेन्द्र सिंह, संदीप कुमार, सुनील काम्बोज, मुनीश शर्मा भी मौजूद थे। 
in news 



      

मंगलवार, 8 दिसंबर 2015

डेंगू व डायरिया रोग के बारे में जानकारी Dengue and Malaria

डेंगू व डायरिया रोग के बारे में जानकारी Dengue and Malaria 
खतरनाक जीव नन्हा मच्छर करोड़ों को काट कर रोगी बना रहा है
राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय अलाहर में होमी भाभा विज्ञान क्लब के सदस्यों ने आज विशेष बालसभा का आयोजन प्रधानाचार्य श्री नरेंद्र कुमार ढींगड़ा की अध्यक्षता में किया गया जिसमे बच्चों को डेंगू व डायरिया रोग के बारे में जानकारी दी गयी। इसी कार्यक्रम के दौरान एक प्रश्नोत्तरी का भी आयोजन किया गया जिसमे बच्चों से डेंगू व डायरिया रोग के बारे प्रश्न पूछे गए जिनका बच्चों ने बढ़ चढ़ कर जवाब दिया।
विज्ञान अध्यापक दर्शन लाल ने डेंगू ज्वर के फैलने के कारण, लक्षणों व बचाव के उपायों पर प्रकाश डाला। डेंगू बुखार एडीज़ इजिप्टी मच्छरों के काटे जाने से फैलने वाली वाइरल बीमारी है। ये मच्छर इनसानी बस्तियों में खुले और साफ पानी में पैदा होते हैं, ये मच्छर दिन के समय काटते हैं। बरसात के साथ ही डेंगू और मलेरिया का आतंक बढ़ गया है। जैसे-जैसे मनुष्य ने मच्छरजनित रोगों पर काबू पाने के उपाय किए हैं, वैसे-वैसे मच्छर भी दिनोंदिन बलशाली होता जा रहा है। पहले तो बस मलेरिया ही था लेकिन अब तो मच्छर ने और भी रोग मनुष्य की झोली में डाल दिए हैं दो चार  मिलीग्राम से वजन वाले इस खतरनाक जीव ने आज भी मनुष्य का जीना दूभर कर रखा है। दुनियाभर में सबसे खतरनाक जीव नन्हा मच्छर करोड़ों को काट कर रोगी बना रहा है। खुले गटर, गड्ढे पानी भरी होदियां, नालियां और जगह जगह जमा बरसात का पानी,  कूलर, पानी की खुली टंकियां, टायर जैसा अन्य कबाड़ मच्छरों के इस परिवार को बढ़ाता है। डायरिया के बारे में बताते हुए कहा की साफ़ पानी पीना और हाथो को साबुन और पानी से धोना मात्र ही यह सुनिश्चित कर देता है की आपको डायरिया तंग नहीं कर सकता है। प्रधानाचार्य श्री नरेंद्र धींगड़ा ने बालको को स्कूल में जूते और पूरी बाजू की कमीज पहन कर आने और साबुन से हाथ की अनिवार्यता के आदेश दिए।         
मौके पर विद्यालय के अध्यापक दर्शन लाल, लवलीन कौर, जसविन्द्र कौर, मीना काम्बोज, संजीव धौलरा, सुनीता काम्बोज, भगवती शर्मा, रीना रानी, संदीप कुमार, संजय गौतम, सुनील काम्बोज मौजूद रहे। 
अखबार में 
प्रस्तुती : दर्शन लाल बवेजा, विज्ञान अध्यापक रावमावि अलाहर

                         

परीक्षा परिणामों में विद्यालय ने बाज़ी मारी Best Results

नौं विद्यार्थियों की मैरिट के साथ उत्कृष्ट परीक्षा परिणामों में अलाहर के राजकीय विद्यालय ने बाज़ी मारी
बच्चों, अध्यापको व अभिभावकों में खुशी की लहर दौड़ पड़ी  
प्रधानाचार्य नरेंद्र धींगड़ा परीक्षा 
परिणाम घोषित करते हुए  
राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय अलाहर के विद्यार्थियों ने मैट्रिक व जमा दो परीक्षा में बेहतरीन परिणाम देते हुए उत्कृष्ट प्रदर्शन किया है। विद्यालय के प्रधानाचार्य नरेंद्र धींगड़ा ने परीक्षा परिणाम बारे बताया है की विद्यालय के 9 विद्यार्थियों ने मैरिट हासिल की है जिनमे मंदीप कुमार, मिनल राणा, सुमित कुमार, किरण बाला आहूजा ने चार सौ से अधिक अंक प्राप्त करके स्कूल का व गावं का नाम रोशन किया है बहुत से बच्चों ने हिन्दी, गणित, सामाजिक, अंगरेजी, संस्कृत, ड्राइंग, विज्ञान विषयों में डिक्टीनशन अंक प्राप्त किये हैं। बच्चों ने गणित और विज्ञान विषयों में बेहतरीन प्रदर्शन किया है गणित में मंदीप कुमार ने स्कूल में सार्वधिक 96 अंक प्राप्त करके प्रथम स्थान प्राप्त किया है और गणित मुश्किल विषय होता है इस धारणा को पलट कर दिखा दिया है। सफल विद्यार्थियों व उनके अभिभावकों ने विद्यालय में आकर प्रधानाचार्य व अध्यापकों को बधाईयाँ दी। 
मेरिट प्राप्त करने वाले बच्चों
 और अभिभावकों के साथ प्रधानाचार्य 
इस अवसर पर प्रधानाचार्य ने कहा की ये सब बच्चों व अध्यापको की मेहनत का ही फल है कि एक और तो जहां राज्य का सामान्य परीक्षा  परिणाम बहुत कम है फिर भी विद्यालय का परिणाम उस से बहुत अधिक है।
विज्ञान अध्यापक दर्शन लाल व गणित अध्यापक मनीष कुमार शर्मा विज्ञान व गणित विषय में स्कूल के बालको के बेहतरीन प्रदर्शन से बहुत खुश हैं।  विद्यालय के प्रधानाचार्य के साथ विद्यालय के अध्यापकों संजय गौतम, सुनील काम्बोज, मनीष कुमार, दर्शन लाल, संदीप कुमार, रविंदर सैनी, प्रदीप धीमान, जसविंदर कौर, लवलीन कौर, सुनीता काम्बोज, भगवती शर्मा, रीना काम्बोज, मीना काम्बोज, पवन कुमार, पवन सचदेवा, धर्मेन्द्र, रणजीत, संजीव धौलरा, अध्यापको ने सफल बच्चों को उनके उज्जवल भविष्य के लिए शुभ कामनाएं दी है।
अखबार में 
प्रस्तुती : दर्शन लाल बवेजा, विज्ञान अध्यापक, रावमावि अलाहर
    

डाक्टर एपीजे अब्दुल कलाम को बच्चों और अध्यापको ने भावभीनी श्रधांजलि दी Dr APJ Abdul Kalam

बच्चों और अध्यापको ने  डाक्टर कलाम को भावभीनी श्रधांजलि अर्पित की
राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय अलाहर में आज भूतपूर्व राष्ट्रपति और वैज्ञानिक डाक्टर एपीजे अब्दुल कलाम को बच्चों और अध्यापको ने भावभीनी श्रधांजलि दी और श्रद्धा सुमन अर्पित किये। 
प्रातकालीन सभा में बच्चों को डाक्टर कलाम के आकस्मिक निधन की सुचना दी गयी और दो मिनट का मौन रख कर दिवंगत आत्मा के प्रति श्रद्धा व्यक्त की गयी। प्रधानाचार्य नरेंद्र धींगड़ा, प्रवक्ता रविंदर कुमार, संदीप कुमार व विज्ञान अध्यापक दर्शन लाल ने बच्चों को सम्बोधत किया, जिसमें उन्हें डाक्टर कलाम के बचपन से लेकर देश के राष्ट्रपति बनने तक के जीवन परिचय से अवगत करवाया गया उन्होंने बताया कि डाक्टर कलाम का जीवन खुद में एक बहुत बड़ी प्रेरणा है वो प्रेरणा जो ग्रामीण अंचल से शुरू होकर देश के सर्वोच्च पद तक पहुँचने का किस्सा ब्यान करती है देश के हरेक बच्चे को डाक्टर कलाम के जीवन से प्रेरित होकर देश सेवा में अपना योगदान देना चाहिये।
विद्यालय के अध्यापक दर्शन लाल, रविंदर सैनी, लवलीन कौर, जसविन्द्र कौर, मीना काम्बोज, सुनीता काम्बोज, भगवती शर्मा, पवन कुमार, रणजीत सिंह, प्रदीप धीमान, धर्मेन्द्र सिंह, संदीप कुमार, संजय गौतम, सुनील काम्बोज, धर्मेंदर सिंह, मुनीश शर्मा, राजपाल, अजनर सिंह ने भी अपने हाथों से श्रद्धा सुमन अर्पित किये।
अखबारों में 



प्रस्तुती : दर्शन लाल बवेजा, विज्ञान अध्यापक रावमावि अलाहर
         
    


शुक्रवार, 28 अगस्त 2015

मुख्यशिक्षिका संतोष कुमारी सेवानिवृत्त हुई Head Teacher

सबसे बड़ी राष्ट्र सेवा का कार्य है बच्चों को शिक्षित करना : श्री श्याम सिंह राणा

अध्यापक सौभाग्यशाली है कि उस को राष्ट्र की सेवा का सबसे अधिक मौका मिलाता है इस लिए उसे इस अवसर को चूकना नहीं चाहिए और इस अवसर का लाभ उठाते हुए बालको को उत्तम शिक्षा देकर बेहतरीन नागरिक बनाना चाहिए यह शब्द रादौर के विधायक श्री श्याम सिंह राणा ने राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय अलाहर की मुख्यशिक्षिका संतोष कुमारी की सेवानिवृत्ति के अवसर पर अध्यापको को संबोधित करते हुए कहे।
उन्होंने कहा कि किसी भी राष्ट्र की तरक्की वहां की सुशिक्षित जनता पर निर्भर करती है क्योंकि शिक्षा ही अपना, देश व समाज का भला बुरा सोचने की शक्ति प्रदान करती है इसलिए अभिभावकों को चाहिए की वो अध्यापको का पूर्ण सहयोग करें और अपने बच्चों को विद्यालय भेज कर देश की तरक्की में अपना योगदान देवें।
राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय अलाहर के प्रधानाचार्य नरेंद्र धींगड़ा ने बताया कि मुख्यशिक्षिका संतोष कुमारी ने प्राथमिक विद्यालय के बच्चों के लिए पांच किलोवाट का एक जनरेटर उपहार में दिया है जिसके लिए वो खुद व सभी अध्यापक उनके आभारी हैं।
आज के कार्क्रम का मंच संचालन प्रवक्ता रविंदर कुमार सैनी ने किया व इस अवसर पर विद्यालय के अध्यापक दर्शन लाल, संतोष कुमारी, रविंदर सैनी, सुनीता काम्बोज, संजय गौतम, सुनील काम्बोज, मनोहर लाल, नित्यानंद, गोपाल शास्त्री ने भी संबोधित किया।
प्रस्तुती : दर्शन लाल बवेजा, विज्ञान अध्यापक रावमावि अलाहर

बाइसाईकल पाकर खुशी से झूम उठे छात्र छात्राएं Bicycles Distributed

बाइसाईकल पाकर खुशी से झूम उठे छात्र छात्राएं
सर्व शिक्षा अभियान के अंतर्गत बांटी गयी साइकलें राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय अलाहर में शिक्षा विभाग के सर्व शिक्षा अभियान की योजना के अंतर्गत दो किलोमीटर से अधिक दूरी से स्कूल आने वाली छात्राओं को व छात्रों को निशुल्क साइकलें वितरित की गयी इस अवसर पर अलाहर ग्राम पंचायत के सरपंच महिंद्र पाल सिंह, एस एम डी सी के प्रधान राजकुमार व विद्यालय के प्रधानाचार्य नरेंद्र ढींगड़ा ने बच्चों को यह सायकिले अपने हाथों से वितरित की, सायकिले प्राप्त करने पर बच्चों को बहुत प्रसन्नता हुई। बालिकाओं को शिक्षा के प्रति प्रेरित करने के लिए और उन्हें स्वावलंबी बनाने के उद्देश्य से सरकार द्वारा चलाई गयी योजना के अंतर्गत बहुत सी कल्याणकारी योजनायें शुरू की गयी हैं जिन का पूरा पूरा लाभ समय पर विद्यार्थियों को दे दिया जाता है जिस कारण क्षेत्र के बच्चों में शिक्षा के प्रति रूचि बढ़ी हैं। इस अवसर पर विद्यालय के अध्यापक दर्शन लाल, रविंदर सैनी, लवलीन कौर, जसविन्द्र कौर, प्रदीप धीमान, धर्मेन्द्र सिंह, संदीप कुमार, संजय गौतम, सुनील काम्बोज, धर्मेंदर सिंह, मुनीश शर्मा भी उपस्थित रहे।
प्रस्तुती : दर्शन लाल बवेजा, विज्ञान अध्यापक रावमावि अलाहर

मीठे जल की छबील Chhbeel

 ठंडे मीठे जल की छबील लगाई गई
अलाहर के राजकीय विद्यालय में राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय अलाहर में आज छबील का आयोजन किया जिस में बच्चों को ठंडा व मीठा शरबत पिलाया गया, छबील का शुभारम्भ प्रधानाचार्य नरेंद्र कुमार ने किया, उन्होंने बच्चों को संबोधित करते हुए कहा कि जब वो स्कूल में पढ़ते थे तब सब बच्चे अपनी  पॉकेट मनी बचाकर छबील लगाते थे तो उन को बहुत खुशी मिलती थी। विद्यालय में इस छबील का आयोजन राजनीति शास्त्र के प्रवक्ता रविंदर सिंह व अध्यापिका गणित लवलीन कौर ने किया।
विज्ञान अध्यापक दर्शन लाल ने बच्चों को संबोधित करते हुए कहा की इन दिनों गर्मी से मानव ही नहीं बल्कि पेड़-पौधे और पशु पक्षियों का बुरी हाल हुआ पड़ा है। उपर से उमस ने भी जीना दूभर किया हुआ है, तापमान बहुत अधिक है। ऐसे में इस प्राकृतिक प्रकोप से बचने के लिए मनुष्य अपनी यथासंभव इंसानियत को प्रकट कर रहा है और जगह जगह पीने के पानी और भोजन की व्यवस्था कर रहा है जिस से मानव की यह सेवा भावना राहगीरों व जरूरतमंदों के काम आ रही है। विद्यालय के अध्यापक दर्शन लाल, संजय गौतम, रविंदर सैनी, लवलीन कौर, जसविन्द्र कौर, प्रदीप धीमान, धर्मेन्द्र सिंह, संदीप कुमार ने सहयोग दिया।
प्रस्तुती : दर्शन लाल बवेजा, विज्ञान अध्यापक रावमावि अलाहर


सोमवार, 24 अगस्त 2015

योग एवं व्ययाम सीखा Yoga Training in School

अलाहर के राजकीय विद्यालय के विद्यार्थियों ने योग एवं व्ययाम सीखा   

कक्षा तत्परता कार्यक्रम में सभी विषयों के साथ योग, खेलकूद, दस्तकारी व सामान्य ज्ञान में भी  रूचि ले रहे हैं विद्यार्थी 
राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय अलाहर में शिक्षा विभाग द्वारा चलाये गए सी आर पी कार्यक्रम के दौरान आज विद्यार्थियों ने योग एवं व्ययाम सीखा, विद्यालय में विशेष रूप से आमंत्रित योग विशेषज्ञ अनिल कुमार व विद्यालय के अध्यापक सुनील काम्बोज, दर्शन लाल, प्रदीप धीमान व संजीव कुमार ने बच्चों को योग का प्रशिक्षण दिया विद्यालय के प्रधानाचार्य नरेंद्र कुमार ढींगड़ा ने बच्चों को संबोधित करते हुए कहा कि तंदरुस्ती हजार नियामत है इस लिए हमे खुद को तंदरुस्त रखना चाहिये जिसके लिए हमे अपनी दिनचर्या में योग व्ययाम व प्रात कालीन सैर जरूर करनी चाहिए। उन्होंने कहा कि वह विद्यालय के बच्चों व अध्यापको के प्रयासों की सराहना करते हैं की वो बच्चों के सर्वांगीण विकास के लिए प्रयासरत हैं।
आज बच्चों को आलोम विलोम, कपालभाती, प्राणायाम, सूर्यनमस्कार, सर्वांगासन, हलासन, चक्रासन, वज्रासन, पश्चिमोतासन, धनुरासन करने सिखाये गए।
विद्यालय के अध्यापक दर्शन लाल, संजय गौतम, रविंदर सैनी, लवलीन कौर, जसविन्द्र कौर, प्रदीप धीमान, धर्मेन्द्र सिंह, संदीप कुमार विद्यालय में बच्चों को खेल खेल में विज्ञान, मेहंदी लगाओ प्रतियोगिता, पर्यावरण व कन्या भ्रूण हत्या व  अन्य सामाजिक बुराइयों पर जागरूकता कार्यक्रम, कम लागत से विज्ञान माडल, खो-खो व पीटी-योगा अभ्यास, गणित, कम्प्यूटर, सामान्यज्ञान व विज्ञान प्रश्नोत्तरी, विज्ञान पजल्स, प्रकृति भ्रमण, कोलाज मेकिंग, क्ले मोडलिंग, बैंकिग व पोस्टल कार्यप्रणाली का ज्ञान, कविता रचना व कविता पाठ, नाटक, रोल प्ले, जागरूकता रैलियाँ, आपदा प्रबंधन व प्राथमिक चिकित्सा बाक्स आदि गतिविधियां करवा कर शिक्षण-अधिगम को बहुत रुचिकर तरीके से अंजाम दे रहे हैं।
अखबारों में

प्रस्तुती : दर्शन लाल बवेजा, विज्ञान अध्यापक रवमावि अलाहर   

आपदा प्रबंधन के गुर सीखे विद्यार्थियों ने Disaster Management Training in School

आपदा प्रबंधन के गुर सीखे विद्यार्थियों ने Disaster Management Training in School
राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय अलाहर में विद्यार्थियों को आपदाओं के बारे में बताया गया और उन्हें आपदा प्रबंधन बारे टिप्स दिए गए, शिक्षा विभाग द्वारा चलाये गए सी आर पी कार्यक्रम के दौरान विभिन्न जीवनोपयोगी गतिविधियों के अंतर्गत प्राकृतिक मानव-जनित आपदाओं का ज्ञान दिया गया जिस में बच्चों ने बहुत रूचि दिखाई। इस जागरूकता सह प्रशिक्षण कार्यक्रम का शुभारम्भ विद्यालय के प्रधानाचार्य नरेंद्र कुमार धींगड़ा ने किया। सीआरपी के तहत यह आपदा प्रबंधन कार्यक्रम कईं दिन तक चलेगा बालको को हर रोज विभिन्न आपदाओं के बारे में बताया जाएगा और इससे बचाव के तरीके भी बताये जायेंगे ताकि ऐसी कोई स्थिति आये तो बच्चे अपनी जान बचा सकें और साथ ही दूसरो की भी मदद कर सकें।
आपदा के विभिन्न प्रकार
विद्यालय के विज्ञान अध्यापक दर्शन लाल ने विद्यार्थियों को विभिन्न आपदाओं के बारे में बताया और कहा की केदारनाथ के बाद नेपाल की आपदा ने एक बार फिर बता दिया है कि प्रकृति की मार सबसे भयंकर होती है ऐसे में जरूरी हो जाता है कि हम आपदा आने पर हम किस प्रकार बच सके और दूसरों की भी जान बचा सके। आपदा प्रबंधन के द्वारा ही हम यह सब जान सकते है। बवेजा ने बताया की आपदा एक असामान्य घटना है जो थोड़े ही समय के लिए आती है और अपने विनाश के चिन्ह लंबे समय के लिए छोड़ जाती है। प्राकृतिक आपदा को परिभाषित करते हुए कहा जा सकता है कि एक ऐसी प्राकृतिक घटना जिस में एक हज़ार से लेकर दस लाख लोग तक प्रभावित हों और उनका जीवन खतरे में हो तो वो प्राकृतिक आपदा कहलाती है प्राकृतिक आपदाएं मनुष्य व अन्य जीवों को बहुत प्रभावित करती है।
प्राकृतिक आपदा के हैं कई रूप
हरिकेन, सुनामी, सूखा, बाड़, टायफून, बवंडर, चक्रवात सब मौसम से सम्बन्धित प्राकृतिक आपदाएं हैं। भूस्खलन और हिमघाव ऐसी प्राकृतिक आपदा हैं जिस में स्थलाकृति बदल जाती है। भूकम्प टेक्टोनिक प्लेट विवर्तनिकी के कारण और ज़्वालामुखी के कारण अग्निकांड, दावानल आदि आते हैं। टिड्डीदल का हमला, कीटो के प्रकोप को भी प्राकृतिक आपदा माना गया है। मानवकृत आपदा के बारे में भी बताया गया की मानवीय दखल से नित नए नए प्रकार की आपदाओं से मनुष्य को दो चार होना पड़ रहा है जिनमे से पर्यावरणीय आपदा वैश्विक ऊष्मन और वैश्विक शीतलन जैसी नयी मुसीबते मुहँ खोले खड़ी हैं।
आपदा प्रबंधन कैसे करें?
बवेजा ने बताया की हमारे स्कूली पाठ्यक्रम में ऐसा कोई ख़ास इंतजाम नहीं है की बालक पाठ्यक्रम से आपदा प्रबंधन सीख सकें फिर भी अध्यापक बच्चों को आपदा के समय, पहले व बाद के इंतजामात बारे बताते हैं जिसमे बाड़, भूकंप और अतिवृष्टि से होने वाले नुकसानों से बचने के उपाय बताये गए। बालको को इस बारे प्रशिक्षित भी किया गया यह गतिविधि पूरे सप्ताह चलेगी जिस में बच्चों को प्राथमिक चिकित्सा का भी प्रशिक्षण दिया जाएगा। बच्चों को आपदा प्रबंधन से सम्बंधित वीडियो एनिमेशन फिल्मे भी दिखाई जायेंगी जिन के द्वारा बच्चे व अध्यापक सीखेंगे। कार्यक्रम में संजय गौतम, सुनील काम्बोज, रविंदर सैनी, लवलीन कौर, जसविन्द्र कौर, प्रदीप धीमान, धर्मेन्द्र सिंह, संदीप कुमार, मनीष कुमार शर्मा, पवन सचदेवा, भगवती शर्मा, रीना काम्बोज सहित विद्यालय के बच्चों इतेश, गौरव, सुमित, वंशिका, रजनीश, महक, नैन्सी, दिव्या, ज्योति, अरुण, संतोष, सूर्या, गगन, हिमांशु, अनिकेत, अंशुल, आकाश, साहिल, प्रीती, साक्षी ने भाग लिया।
अख़बारों में

प्रस्तुती : दर्शन लाल बवेजा, विज्ञान अध्यापक रवमावि अलाहर


बुधवार, 27 मई 2015

विज्ञान विषय में रूचि Interest in Science

कक्षा तत्परता कार्यक्रम के अंतर्गत विज्ञान गतिविधियाँ सीखी बच्चों ने
कक्षा तत्परता कार्यक्रम के दौरान विज्ञान विषय में रूचि उत्त्पन करने में जुटे अध्यापक
राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय अलाहर में शिक्षा विभाग द्वारा चलाये गए सी आर पी कार्यक्रम के दौरान विज्ञान में रूचि जगाने के लिए विभिन्न विज्ञान गतिविधियां चलाई जा रही हैं इन विज्ञान गतिविधियों का उदघाटन विद्यालय के प्रधानाचार्य नरेंद्र धींगड़ा ने किया और बताया कि सारे साल स्लेबस पूरा कराने की उलझनों में फसे विज्ञान अध्यापक के पास अब एक बेहतरीन अवसर है कि वो सी आर पी कार्यक्रम के दौरान विभिन्न विज्ञान गतिविधियां करवा कर बच्चो को विज्ञान शिक्षा के प्रति आकर्षित कर सकता है और साथ ही अपने हुनर का प्रदर्शन करके शिक्षा जगत में अपनी योग्यता भी सिद्ध कर सकता है।
इस विज्ञान संचार व जागरूकता कार्य की कमान उन्होंने विद्यालय के विज्ञान अध्यापक दर्शन लाल को सौपी उन्होंने बालको को खेल खेल में विज्ञान, कम लागत से विज्ञान माडल, विज्ञान प्रश्नोत्तरी, विज्ञान पजल्स, प्रकृति भ्रमण आदि गतिविधियां करवा कर विज्ञान शिक्षण को और भी मजेदार बना दिया है। आजकल विद्यालय में विज्ञान अध्यापक दर्शन लाल ने बच्चों को भौतिकी की समझ बढ़ाने के लिए विधुतचुम्बकत्वगतिआघूर्णबलगुरुत्वआवेशवायु
दबावबरनौली के सिद्धांतपास्कल के नियमआर्कमिडिज के सिद्धांतन्यूटन के नियमोंप्रकाश का अपवर्तनप्रकाश का परावर्तनप्रकाश का विक्षेपणविधुत मोटर व डायनमोविधुत फ्लस्कआवेश विसर्जनघर्षणचलचित्रपम्पध्वनि की उत्पत्ति एवं संचरण आदि पर आधारित विभिन्न नवाचारी कम लागत के उपकरणों से विभिन्न गतिविधियाँ करवा रहे हैं जिनको कि सी आर पी के अंतर्गत बच्चे खुद भी करके देख रहे हैं।

सी आर पी गतिविधियों में विज्ञान किटस् का भी बेहतर उपयोग हो रहा है  
दर्शन लाल ने यह भी बताया कि सर्व शिक्षा अभियान के अंतर्गत शिक्षा विभाग द्वारा सभी विद्यालयों को दो दो विज्ञान प्रयोगिक किट्स भी उपलब्ध करवाई गयी हैं जिनमें सौ से भी अधिक विज्ञान गतिविधयां करवाए जाने की सामग्री दी गयी है और यह सामान विज्ञान पाठ्य पुस्तक में वर्णित सभी गतिविधियों को करवाए जा सकने में सक्षम हैं। इन विज्ञान किट्स का उपयोग सी आर पी के दौरान किया जा रहा है।
यह विज्ञान किट्स बहुत ही बेहतरीन और सम्पूर्ण है जिनके द्वारा बहुत से प्रयोग कम समय में व भारी उपकरणों  के बगैर ही करवाए जा सकते हैं।  आजकल भी समाज में विभिन्न अंधविश्वास व्याप्त है, अंधविश्वास एक वैश्विक समस्या बनी हुई है। कुछ शातिर लोग समाज में कार्यरत हैं जो कि यदाकदा अपना शिकार फांस कर उस परिवार का भविष्य बर्बाद कर देते हैं। सी आर पी के दौरान विज्ञान शिक्षक बच्चों को अंधविश्वास निवारण के लिए प्रेरित कर रहे हैं।
दर्शन लाल बवेजा
 विज्ञान अध्यापक दर्शन लाल अन्य विज्ञान अध्यापको के मार्गदर्शन के लिए हमेशा तत्पर रहते है और जिले व अन्य प्रान्तों के विज्ञान शिक्षक व विद्यार्थी इमेल, पत्राचार, दूरभाष व विज्ञान गतिविधियों पर आधारित उनके द्वारा संचालित वेबसाईट साइंसदर्शन डाट इन के माध्यम से उनसे जुड़े रहते हैं व अपने अनुभव आपस में सांझे करके विज्ञान संचार में योगदान करते हैं।   


अख़बारों में